UT wordmark
College of Liberal Arts wordmark

Dentistry

Dentistry - Dr. Sanjeev Gulati: 1

mediaURI: 
About This Lesson: 
Dr. Sanjeev Gulati talks about the general nature of dental problems in his geographic region.
vocabulary (hindi): 

क्लीनिक 

 

Clinic

डेंटिस्ट 

 

Dentist

अमूमन

 

Generally

फैसिलीटीज़

 

Facilities

पेशैंट्स

 

Patients

दांत सड़ने

 

Tooth decay

दांत खराब

 

Tooth go bad

हाईजीन

 

Hygiene

ब्रश

 

Brush

दातुन

 

Twig of a “Neem” tree used for cleaning the teeth

प्रापर ओरल हाईजी

प्रापर ओरल हाईजीन

Proper oral hygiene

प्रापर ब्रशिंग एण्ड टैक्नीक...

 

Proper brushing and technique

सड़न

 

Decay/rot

दांतों में तकलीफ

 

Pain in the teeth

लक्षण

 

Symptom

अमूमन

 

Generally

खोडीला

 

Cavity

मसूडों

 

Gums

पायरिया

 

Pyorrhea

खून

 

Blood

बदबू

 

Smell

मवाद

 

Pus/ matter

ट्रीटमेंट

 

Treatment

transcription (hindi): 

मेरा नाम डॉक्टर संजीव गुलाटी है और मैंने 1983 में बापू जी डैंटल कॉलेज, रावण गिरी से बी.डी.एस. किया था... और मेरी वाईफ ने बैंगलौर में जी.डी.सी. से, गॉरमेंट डैंटल कॉलेज से किया था, बी.डी.एस. ... She is Dr. Sanjeev Gulati ... फिर 1986 में मैंने ये क्लीनिक स्टार्ट की थी यहां पे... उस समय एक चेयर से स्टार्ट किया था और 87 से डॉक्टर सुरेखा मेरे साथ काम कर रही हैं... अब हम लोगों के साथ कई और डेंटिस्ट भी हैं और हम लोग सब मिल के ये क्लीनिक रन कर रहे हैं...

यहां अमूमन कितने आपके पास फ़ैसिलिटीज़ हैं? चेयर्स की जब आप बात करते हैं तो?

चेयर्स तो, चार, पांच, नौ, करीब बारह चेयर्स हैं यहां पे... और डेली हम लोग करीब hundred पेशेंट्स अटैंड करते हैं...

तो ये सौ पेशैंट्स का आपका सालों साल चलता रहता है या कोई मरीज...

(बात काटते हुये) नहीं, नहीं, नहीं, नहीं, ऐसा नहीं है... ये जो हमारे winters के जो months होते हैं, ये थोड़ी lean period होता है... इसमें हम लोगों का 60, 70 होता है...

जी...

और फरवरी के बाद, मार्च से फिर हम लोग का 100, 90, 100 इस टाईप से average पेशैंट्स आने लगते हैं...

तो यहां पर, गोरखपुर और गोरखपुर के आस पास के इलाके से लोग आपके पास आते हैं...

हमारा मेनली जो है ईस्टर्न यू.पी., बिहार और नेपाल... ये तीन जगह से मेन पेशैंट्स आते हैं...

तो जब यहां पर लोग आते हैं तो आपने मुख्यतः क्या देखा है कि दाँत सड़ने का इनका, या दाँत खराब होने का इनके क्या कारण आपको नज़र आते हैं?

मेनली इनका हाईजीन poor है... और कोई बात नहीं है... एक तो यहां पे ज्यादातर पब्लिक ब्रश नहीं करती... या पब्लिक ब्रश करती भी है तो दोनों टाईम नहीं करती... काफी लोग जो विलेज़िस के हैं, दातुन से और अपने घर के बनाये हुये पाउडर से, ये सब चीजों से काम चला लेते हैं, जो कि sufficient नहीं होता... मतलब प्रॉपर ओरल हाईजीन, मतलब प्रॉपर ब्रशिंग एण्ड टेक्नीक... टैकनीक के साथ जैसे हम लोग बताते हैं, ऊपर नीचे ब्रश करो... वो टैकनीक फॉलो नहीं करते... नहीं तो कोई वजह नहीं है कि इतनी सड़न हो इस एरिया में...

तो जब इनके दाँतों में तकलीफ़ होती है तो इनके किस किस किस्म के, किस किस प्रकार के लक्षण अमूमन देखे गये हैं?

नहीं, डिपैंड करता है कि कैसा इनके, इनके में क्या disease certain है इनके... मतलब मान लीजिये दांत में खोड़ीला है, तो खोड़ीला तो फिर पेन करेगा, पानी लगेगा... ये सब चीजें हैं... तो... और अगर मान लीजिये इनको मसूढ़ों की प्रॉब्लम है... जैसे कि पायरिया की बीमारी वगैरह होती है... तो उस समय उनकी कम्पलेंट होगी कि खून आता है, बदबू आती है और मवाद आता है... ये सब चीजों के बारे में वो लोग कहेंगे... तो उस समय फिर उसका ट्रीटमेंट करना होता है, जैसा वो बताते हैं...

exercise (hindi): 

1) डॉक्टर सुरेखा और डॉक्टर संजीव के यहाँ हर दिन कितने पेशेंट आते हैं?

१) करीब १०० पेशेंट

२) करीब २०० पेशेंट

३) करीब ४०० पेशेंट

४) करीब ४० पेशेंट

2) दाँत सड़ने का मुख्य कारण क्या है?

१) ठीक तरह से ब्रश नहीं करते हैं

२) हर दिन दातुन नहीं करते हैं

३) हर दिन पेस्ट इस्तेमाल करते हैं

४) हर दिन घर के बने पाऊडर का दांतों पर इस्तेमाल करते हैं

3) दांतों की बीमारी में क्या क्या लक्षण देखे जाते हैं?

१) दांतों से खून निकलता है

२) दांतों में दर्द होता है

३) मुँह से बदबू आती है

४) सब

vocabulary (urdu): 

content under development

transcription (urdu): 

content under development

exercise (urdu): 

content under development