UT wordmark
College of Liberal Arts wordmark

Health Education - Dr. Rahul Modi:5

mediaURI: 
vocabulary (hindi): 

हाइजीन 

 

Hygiene

नैचुरोपैथी

 

Naturopathy

प्राकृतिक चिकित्सा

 

Naturopathy

प्रकृति

 

Nature

सांकलन

आंकलन

Assessment

यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान, समाधि...

 

Lifestyle practice/rules/posture/breathing technique/ weaning away from ahara or ingestion/belief/meditation/state of total equilibrium

अंग

 

Part of a body

यम

 

Rule or code of conduct for the living to attain a healthy mind and body

नियम

 

Rules/principle

समाज

 

Society

योग

 

Total/sum/meditation

मिताहार

 

Neither have too much food or too little/ avoid excess

क्रियाओं

 

Yoga exercises

शरीर

 

Body

धौती, नेती, बस्ती, त्राटक, नौली, कपाल भाती...

 

Yoga exercises to clean your body.

बाहरी शरीर

 

Body from outside

अंदरूनी

 

Inner

अंदरूनी शरीर

 

Body from Inside

दिमाग़

 

Mind

योग

 

To unite/attach/join

चित्त

 

Heart/mind

वृत्ति

 

Temperament, proclivity

निरोध:

निरोध

Prevent, block

मस्तिष्क

 

Mind

कन्फ्यूज़न्स

 

Confusions

भ्रांतियां

 

Illusions/confusions

transcription (hindi): 

हाइजीन की बात करने से पहले थोड़ा सा योग का परिचय दूंगा... नैचुरोपैथी बात करती है, प्राकृतिक चिकित्सा बात करती है कि प्रकृति के साथ रहा जाये... योग जो है ये महार्षि पातांजली ने ढूंढा... और उन्होंने, या उन्होंने इसका संकलन किया... ढूंढना तो गलत होगा... उन्होंने सांकलन किया और इसे आठ भागों में बांटा... यम, नियम,  आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान, समाधि... जो शुरू में उनके दो अंग हैं, यम और नियम, ये बताते हैं कि एक व्यक्ति को कैसे अपने, एक व्यक्ति को रहना चाहिये और कैसे उसको समाज में रहना चाहिये... योग की शुरूआत ही साफ रहने से होती है... योग की कभी भी किताब पढ़ेंगे, या कभी भी करेंगे, वो हमेशा एक, एक इस्तेमाल करेंगे, मिताहार... कम खाना... वो हमेशा योग की जब बात होगी, तो आपको क्रियाओं की बात होगी, जो कि अपने शरीर को साफ करने के काम आती है..धौती, नेती, बस्ती,त्राटक, नौली, कपाल-भाती... छः क्रियाएं लिखी हैं योग में, जिससे शरीर साफ होता है, फिर व्यक्ति योग करने लायक होता है... शुरूआत ही सफाई से है, कि अगर हमारा बाहरी शरीर साफ रहेगा, तब हम अपने अंदरूनी शरीर को साफ कर पायेंगे... और जब मेरा बाहरी शरीर, अंदरूनी शरीर साफ होगा, तब मेरा दिमाग, मेरा मन शांत  होगा... योग की परिभाषा ही है, योग: चित्त-वृत्ति निरोध:... चित्त - मतलब मेरे माईंड, मेरे मस्तिष्क में जितनी भी कंफ़्यूज़न चल रहे हैं, जितनी भी भ्रांतियाँ चल रही हैं, जितने भी विचार चल रहे हैं, वो एक सीध में आयें, वो एक प्वाइंट, वो एक बिन्दू पे आयें... ये योग है... तो योग की शुरूआत ही स्वच्छता से है...

exercise (hindi): 

1) योग और हाइजीन में क्या संबंद्ध है?

१) योग बाहर की सफ़ाई से शुरू होता है।

२) योग से बाहर और अंदर की सफ़ाई होती है।

३) अंदर की सफ़ाई से मन शांत होता है

४) सब

vocabulary (urdu): 

content under development

transcription (urdu): 

content under development

exercise (urdu): 

content under development