UT wordmark
College of Liberal Arts wordmark

Health Education - Dr. Rahul Modi: 9

mediaURI: 
vocabulary (hindi): 

आसन

 

Posture

आसनों का समूह

 

Different postures put together to make one   

सूर्य नमस्कार

 

Literally means ”Salute to the sun” which is composed of 12 Aasans.

विकास

 

Growth

रीढ़ की हड्डी

 

Back bone

झुकाते

 

Bend

मेरूदंढ़

 

Yoga aasan in which the back bone is bend forward and backwards

नर्वस सिस्टम

 

Nervous system

एंडोग्रायमन सिस्टम

 

Andrograyman system

तंत्र

 

System

जो महिलायें गर्भवती हैं

 

Women who are pregnant

माहवार

 

Periods

पीठ के दर्द की परेशानी

 

Bothered by pain in the back

हर्निया

 

Hernia

योग आसन

 

Posture of yoga

प्राणायाम

 

Breathing exercise in Yoga

योग्य व्यक्ति

 

Capable person

चेहरा

 

Face

जोड़ की बीमारियों

 

Joint related disease

डायबटीज़

 

Diabetes

पीठ दर्द

 

Back ache

ब्लड प्रैशर

 

Blood pressure

आराम मिलेगा

 

Will get rest

बीमारियां

 

Illnesses

जरूरत

 

Need

खिंचाव

 

Strain/stretch

ताड़ आसन

 

A yogic exercise

त्रिकोण आसन

 

A yogic exercise

कमर

 

Back

खिंचाव

 

Strain/stretch

अर्धचक्र आसन

 

A yogic exercise

मांसपेशियों

 

Muscles

झांगु सिर आसन

 

A yogic exercise

पश्चिमोत्तान आसन

 

A yogic exercise

शशांक आसन

 

A yogic exercise

डायजैस्टिव सिस्टम

 

Digestive system

गैस

 

Gas

डायबटीज़

 

diabetes

वजन

 

Weight

मोटापा

 

Obesity

ओबैसिटी

 

Obesity

बीमारी   

 

illness

आर्थराईटिस

 

arthritis

चारों खाने चित्त कर देते हैं 

 

Fall flat on their face

चार कंधों पर चढ़कर शमशान पहुंच जाते हैं

 

To die

पेट दबता

 

Pressing of stomach

जानोसिरासन

 

A yogic exercise

त्रिकोण आसन

 

A yogic exercise

प्रैग्नेंसी

 

Pregnancy

प्रैग्नेंट

 

Pregnant

गायनाक्लौजिस्ट

 

Gynaecologist

विशेषज्ञ

 

Specialist

आसन

 

Posture

प्राणायाम

 

A yogic exercise

हानि दे

 

Harm someone

रीढ़ की हड्डी

 

Back bone

दाहिने

 

Right

बाएं

 

Left

वज्र आसन

 

A yogic exercise

ब्लड सर्कुलेशन

 

Blood circulation

पैर

 

Legs

डायजैस्टिव सिस्टम

 

Digestive system

मत्सेन्द्र आसन

 

A yogic exercise

transcription (hindi): 

जहां तक आसन करने की बात है, एक आसनों का समूह है जिसको सूर्य नमस्कार कहते हैं... कहा... ये बारह आसनों का समूह है जिसको करने से पूरे शरीर का विकास होता है... जितने भी आसन हैं वो हमारे शरीर में सिर्फ एक कार्य करते हैं... या तो हमारी रीढ़ की हड्डी को आगे झुकाते हैं या पीछे झुकाते हैं.

कहते हैं कि मेरुदंड, जो हमारी रीढ़ की हड्डी है, अगर ये आगे और पीछे झुकती रहेगी तो हमारा पूरा का पूरा नर्वस सिस्टम स्ट्रांग रहेगा... अगर हमारा नर्वस सिस्टम स्ट्रांग रहेगा तो हमारा एंडोक्राइन सिस्टम ठीक काम करेगा... और अगर ये दो सिस्टम पूरे शरीर में, ये दो तंत्र पूरे शरीर में ठीक काम करेंगे, हमारा पूरा शरीर ठीक से काम करेगा... सूर्य नमस्कार दस साल से लेकर 90 साल तक का व्यक्ति कर सकता है... सिर्फ इसको करने से पहले, जो महिलाएँ गर्भवती हैं, वो न करें... महिला, महिलाओं का जिस समय माहवार चल रहा है, वो न करें... जिनको पीठ के दर्द की परेशानी है, हर्निया की परेशानी है, वो ना करें... कोई भी योग-आसन, कोई भी प्राणायाम, किसी योग्य व्यक्ति से पहले सीख लें, फिर उसे घर में प्रैक्टिस करें... क्योंकि जैसे हर शरीर अलग, हर का शरीर, चेहरा अलग है, उस तरह हर व्यक्ति का शरीर अलग है... और आज के इस नये युग में हर व्यक्ति एक अलग अलग कॉम्बीनेशन, या अलग अलग जोड़ की बीमारियों से परेशान है... किसी को, एक को डायबिटीज़ के साथ पीठ दर्द है, किसी को डायबटीज़ के साथ ब्लड-प्रेशर है, किसी को ब्लड प्रैशर के साथ पीठ दर्द है...तो बहुत सारे कॉम्बीनेशन्स हैं... इसीलिये मैं हमेशा कोई एक आसन बोलने से पहले, कि ये एक आसन कर लीजिये, आपको आराम मिलेगा, बोलने से पहले ये चाहूंगा कि यदि आप किसी योग्य व्यक्ति से आसन और प्राणायाम सीख लें... वो आपके शरीर, आपकी बीमारियाँ, आपकी ज़रूरत के हिसाब से जो आसन आपको बतायें, वो करें...

बच्चों के लिये, और इसीलिये मैंने सारे आसनों को नाम ना देकर बताना चाहा है कि जिन आसनों से आपके शरीर में खिंचाव होता है, जैसे ताड़ आसन, त्रिकोण आसन... आगे आप झुकते हैं उसमें आपकी कमर में खिंचाव होता है... अर्धचक्र आसन... इसमें जितने भी आसन जिसमें आपके शरीर में खिंचाव हो सकता है, ये बच्चे कर सकते हैं... इससे इनकी लंबाई बढ़ती है, पूरी की पूरी माँसपेशियों में खिंचाव महसूस होता है... जितने आसन, जिसमें आप आगे की ओर झुकते हैं...झांगु सिर आसन, पश्चिमोत्तान आसन, शशांक आसन, ये सारे के सारे आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को मजबूत बनाते हैं... तो ये जितनी डायजैस्टिव सिस्टम की प्रॉब्लम्स हैं, constipation है, गैस है, डायबिटीज़ है, ये सब में आपको लाभ मिलेगा... जिस, जिस, अगर आपके यहां वजन है, वजन बढ़ा, मोटापा है, ओबेसिटी इस समय विश्व की सबसे बड़ी बीमारी है... कहते हैं ओबैसिटी अकेले नहीं आती... वो आती है, धीरे धीरे अपने साथ डायबटीज़ को लाती है... थोड़े दिन में डायबटीज़ अपने साथ ब्लड प्रैशर को लेते आता है और फिर तीनों साथ रहने लगते हैं और अपने साथ आर्थराइटिस को बुला लाते हैं...

शुरूआत मोटापे से होती है और फिर चारों मिल के आपको चारों खाने चित्त कर देते हैं और फिर आप चार कंधों पर चढ़कर श्मशान पहुँच जाते हैं... इसीलिये कहते हैं कि अगर पहले ही को आपने रोक दिया, आपने मोटापे को रोक दिया, तो आप इन बाकी तीन को अपने घर बुलाने से बच जायेंगे... आपके चांसिज  बढ  जायेंगे कि आप इन बाकी तीन को अपने घर और ना बुलायें... तो जितनी भी आसन जिसमें आप आगे झुकते हैं, जैसे नौका, या जिसमें भी आपका पेट दबता है, वो सारे आसन मोटापा कम करते हैं... नौका आसन, पश्चिमोत्तान आसन, जानुसिरासन, त्रिकोण आसन, ये सारे के सारे आसन आपको मोटापे से ...

महिलाओं के लिये प्रेग्नेंसी, कि जैसा कि आपने कहा, कोई महिला प्रेग्नेंट है... एक बात पहले, जो आपकी गायनॉकॉलॉजिस्ट है या स्त्री रोग विशेषज्ञ है, उससे जरूर पूछ लें कि क्या मुझे आसन या प्राणायाम करना चाहिये कि नहीं... जब तक डॉक्टर हां ना कहे, तब तक आप कोई भी कार्य ना करें... क्योंकि हो सकता है इस, कि ये लाभ की जगह आपको हानि दे दे... शुरू के तीन महीने में आराम करना चाहिये... तीन महीना पूरा होने के बाद और आपके डॉक्टर के हां कहने के बाद आप आसन कर सकते हैं... इसमें अर्ध, जितने भी twisting पोज़ हैं, जिसमें आपकी रीढ़ की हड्डी दाहिने या बाएँ घूमती है, खड़े होकर या बैठ कर, वो आसन आप करें, उससे आपको लाभ मिलेगा... इसमें, और प्रैग्नेंसी में कहा जाता है कि वज्र आसन में बैठने से आपके ब्लड सर्कुलेशन, पैर जो है, वो पूरे के पूरे डाइजेस्टिव सिस्टम का, पूरे शरीर का ब्लड सर्कुलेशन बैटर हो जाता है... वो आप कर सकते हैं... आप, ये अर्ध मत्स्येंद्र आसन है, ये सब कर सकते हैं...

exercise (hindi): 

1) सूर्य नमस्कार करने से क्या होता है?

१) नरवस सिस्टम अच्छा रहता है।

२) सब बीमारियाँ ठीक हो जाती हैं।

३) सूर्य देव खुश हो जाते है।

४) पैर का दर्द ठीक हो जाता है।

2) किन आसनों को करने से लम्बाई बढ़ती है?

१) ताड़ आसन

२) त्रिकोण आसन

३) अर्धचक्र आसन

४) सब

3) किन आसनों को करने से डायजैस्टिव सिस्टम मज़बूत होता है?

१) झांगु सिर आसन

२) पश्चिमोत्तान आसन

३) शशांक आसन

४) सब

4) वज़न घटाने के लिये कौन से आसन करने चाहिये?

१) नौका आसन

२) पश्चिमोत्तान आसन

३) त्रिकोण आसन

४) सब

5) मोटापा बढ़ने की वजह से क्या बीमारी हो सकती है?

१) डायबैटीज़

२) ब्ल्डप्रैशर

३) आर्थराईटिस

४) सब

6) गर्भवती महिला को क्या करना चाहिये?

१) डॉक्टर की सलाह माननी चाहिये

२) Twisting pose वाले आसन करने चाहिये

३) वज्र आसन

४) सब करना चाहिये

vocabulary (urdu): 

content under development

transcription (urdu): 

content under development

exercise (urdu): 

content under development