UT wordmark
College of Liberal Arts wordmark

Dr. Vimal K. Modi - 12: Naturopathy, Health Education

mediaURI: 
About This Lesson: 
Dr. Modi talks about some of his interesting patient experiences.
vocabulary (hindi): 

विधियां 

 

Procedures

वजन घटाने की

 

To reduce weight

चेहरे की चमक

 

Glow on the face

चार स्वाभाविक मल मार्ग

 

Four natural ways to discard body waste

त्वचा की कांति

 

Luster, brightness of the skin

चीनी चिकनाई

 

Sugar and oily food

सलाद

 

Salad

उबली हुई सब्जियां

 

Boiled Vegetables

पेट भरने के लिये

 

To fill the stomach

जो अंदर कचरा हो रहा है

 

What is being converted to garbage inside

वजन

 

Weight

पिशाब

पेशाब

Urine

मन को ढांढस दिया

मन को ढाढस दिया

Console the heart

चेहरे की हवाइयाँ उड़ गई

 

To be afraid/ to get worried

भांप लिया

 

Guessed

transcription (hindi): 

इसके अलावा इतने सालों से आप ये जो कार्य कर रहे हैं, लोगों की सेवा कर रहे हैं, उन्हें स्वस्थ बना रहे हैं... इस पूरी, इस पूरे आपके कार्यक्षेत्र में, इस पूरे अनुभव में कोई बड़ा मजेदार, दिलचस्प अनुभव आपके जीवन में हुआ हो, मरीज को ले के, जो आपको अंदर तक छू गया हो या याद हो आपको... वो हमें ज़रा बतायें...

मेरे पास बहुत सारे आते हैं वजन घटाने... कुछ इसलिये आते हैं कि घुटने जवाब दे गये हैं... कुछ इसलिये लड़कियां आती हैं कि उनकी शादी नहीं हो रही है... बहुत सी विधियाँ हिन्दुस्तान में प्रचलित हैं वजन घटाने की... लेकिन उन सब वजन घटाने में  चेहरे की चमक चली जाती है... क्योंकि जब वजन घटता है तो शरीर का जो कचरा है, जो मांस है, जो फैट है वो जलता है और वो एलीमिनेट होना चाहिये शरीर से, हमारे जो चार स्वाभाविक मल मार्ग हैं, उनसे निकल जाना चाहिये... वो नहीं निकलेगा तो त्वचा की कांति कम हो जायेगी, चमक कम हो जायेगी... तो मुझे, या यों कहें कि इस प्राकृतिक चिकित्सा को ये विशेषता प्राप्त है कि वजन भी घटा देता है और चमक भी बनी रहती है... उसी तरह की घटना है, गोरखपुर से व्यापारी वजन घटाने मेरे पास आये... गोरखपुर के भी आते हैं... और गोरखपुर के शहर के आते हैं तो मुझे जरा सतर्क रहना पड़ता है क्योंकि अगर वजन नहीं घटेगा तो मेरी बदनामी होगी, आदि आदि... तो मैंने उनको बहुत ढंग से समझाया कि वजन घटाने के लिये चीनी-चिकनाई का प्रयोग बिल्कुल मत कीजिये... सुबह फल खाये, जितना चाहें... दोपहर को खूब सलाद खाये... उबली हुई सब्जियाँ खाये... और पेट भरने के लिए रोटियां खाये... तीन चार बजे किसी फल का रस ले लीजिये... और रात को भी यही भोजन कीजिये... खूब अच्छी तरह समझाया... रोज मेरे यहां वो चिकित्सा के लिये भी आते रहे... क्योंकि प्राकृतिक चिकित्सा इसलिये आवश्यक होती है कि जो वजन घट रहा है, जो अंदर कचरा हो रहा है, वो बाहर निकल जाये... मैं रोज रोज वजन करने के लिये नहीं कहता क्योंकि कभी आपने ज्यादा पानी पी रखा है तो आधा किलो वजन बढ़ जायेगा... कभी पिशाब कर दिया तो आधा किलो घट जायेगा... मैं कहता हूं हर हफ्ते ही वजन करो... तो जरूर कुछ ना कुछ घटा हुआ जरूर दिखेगा...

वो आये... सात दिन के बाद मैंने उनका वजन किया... नहीं घटा... परेशानी हुई... फिर मैंने अपने मन को ढाढ़स दिया और उनको भी समझाया कोई चिंता मत कीजिये अगले हफ्ते घट जायेगा... वो दूसरे हफ्ते भी आते रहे, चौदह दिन आ गये, मैंने उनका वजन किया, वजन नहीं घटा... मैंने कहा, मेरा तो बड़ा नुकसान करेंगे... शहर में जा के गायेंगे कि आरोग्य मंदिर में कुछ होता नहीं है... बड़ी परेशानी हुई... लेकिन परेशानी उनको व्यक्त करने की ताकत नहीं थी... फिर हिम्मत बंधाई, चिंता मत कीजिये, करते रहिये, जरूर घटेगा... तीसरा हफ्ता आ गया, इक्कीस दिन हो गये... संयोग से उस दिन उनकी पत्नी भी साथ आई थीं... मुझे और भी डर लगा, आज भी मशीन पर चढ़ाऊंगा, नहीं घटेगा तो और बड़ी दिक्कत होगी... बड़ी हिम्मत की, मशीन पर चढ़ाया... मेरे तो जमीन पैर के नीचे की सरक गई... एक ग्राम वजन नहीं घटा...चेहरे की हवाइयाँ उड़ गईं... उस हवाईयों को उसकी पत्नी ने भाँप लिया... समझ लिया... उसने कहा, डॉक्टर, परेशान क्यों होते हैं, जो आपने बताया था वो भी खा रहे हैं, जो पहले खाते थे वो भी खा रहे हैं... अब आप बताये वजन कैसे घटेगा...

exercise (hindi): 

1) गोरखपुर से आए व्यापारियों को वज़न घटाने के लिये डॉ० ने क्या सलाह दी?

१) चीनी चिकनाई का प्रयोग करें।

२) उबली सब्ज़ी खाएँ।

३) गेहूँ की रोटी खाएँ।

४) बीज वाले फल खाएँ।

2) वज़न कब लेना चाहिये?

१) हर रोज़ लें।

२) महीने में एक बार लें।

३) साल में एक बार लें।

४) हफ़्ते में एक बार लें।

3) व्यापारियों का वज़न क्यों नहीं घट रहा था?

१) बहुत खाना खाते थे।

२) तला हुआ खाना खाते थे।

३) चीनी चिकनाई वाला खाना खाते थे।

४) रोज़ के खाने के साथ जो बताया था वो भी खा रहे थे।

vocabulary (urdu): 

Content under development

transcription (urdu): 

Content under development

exercise (urdu): 

Content under development