UT wordmark
College of Liberal Arts wordmark

Dr. Vineeta Modi - Health Education - On Breast-feeding and Hygiene

mediaURI: 
About This Lesson: 
Dr. Vineeta Modi draws the connection between breast-feeding and proper hygiene.
vocabulary (hindi): 

बुखार 

 

Fever

मां का दूध

 

Mother’s milk

दवा

 

Medicine

गाय के दूध

 

Cow’s milk

तापमान

 

Temperature

ईलाज

इलाज

Treatment

पलटने

 

Start turning around

बकिया खींचने लगते हैं

 

Start pulling scrap or anything left around

दांत

 

Tooth

गम्स

 

Gums

खुजली

 

Itching

मसूड़े

 

Gums

काटना

 

Bite

सफाई

 

Cleanliness

उबाल कर

 

After boiling

धूल

 

Dirt

मिट्टी

 

Mud/Dirt

पर्यावरण

 

Environment

मौसम

 

Season

इम्यून सिस्टम

 

Immune system

शरीर

 

Body

टी.बी. के कीटाणु

 

Germs of T.B

साफ सफाई

 

Cleanliness

रोज नहलायें

 

Give a bath everyday

पौष्टिक आहार

 

Food with nutrients/Healthy food

वैक्सीनेशन

 

Vaccination

transcription (hindi): 

हम अंग्रेजी में एक सन्टैन्स कहते हैं “breastfeed on demand”... अगर आपका बच्चा आधे घंटे पे दूध पीना चाहता है तो आप उसे हर आधे घंटे पे पिलायें... अगर वो हर दो घंटे पे पीना चाहता है तो आप उसे हर दो घंटे पे पिलायें... वो जितना चाहता है, जितनी बार चाहता है, आप उसे उतनी बार दें... तो अगर बुखार भी है, कुछ भी है तो लोग कहते हैं नहीं, मां का दूध मत दो... इसे दवा दो, इसे बाहर की चीजें खिलाओ... छोटे बच्चे को लोग गाय के दूध में पानी मिला के देते हैं... वो दो... नहीं... हमें कुछ नहीं करना है... हमें उसके तापमान का ध्यान रखना है... उसे अच्छे से ढकना है, अच्छे से वो करना है और मां का दूध पिलाना है... अगर आपको लगे कि तापमान 103, 104 जा रहा है तो जरूर डॉक्टर को दिखायें और जैसा आपको डॉक्टर बतायें आप उस हिसाब से लाज करें...

अब हम अगर थोड़ा बड़े बच्चों पर आ जायें, कि जब बच्चे चार पांच महीने के हो जाते हैं, पलटने लगते हैं, बकिया खींचने लगते हैं, तो हमें उनका क्या ध्यान रखना है... अब आप देखिये, बच्चे क्या करते हैं? हाथ से जमीन पर सरक रहे हैं... वही हाथ वो मुंह में डाल रहे हैं क्योंकि उनके दांत आने वाले होते हैं तो उनके गम्स में खुजली होती है, मसूड़े में खुजली होती है... उसी के परिणाम वश बच्चे क्या करते हैं, हर चीज मुंह में डालना चाहते हैं, काटना चाहते हैं, करना चाहते हैं... तो आप थोड़ा उनकी सफाई का ध्यान रखें, कि अगर बच्चे को आपने जमीन पर छोड़ा है तो आप उसके नीचे एक चद्दर बिछा दें, साफ, दरी बिछा दें साफ... बच्चा बार बार मुंह में हाथ ना डाले... आपके जो उसके जो खिलौने हैं या आप उसको जो भी दे रहे हैं वो आप थोड़ा साफ करके दें... पर आपको ऐसा भी नहीं करना है कि आप रोज उसे दिन में तीन चार बार उबाल कर दें... क्योंकि ये चीज भारत वर्ष में नहीं हो सकती, जहां पे धूल भी है, मिट्टी भी है, पर्यावरण आपका ऐसा है, आपको हर तरह के मौसम झेलना है, हर तरह की चीजें झेलनी हैं...तो अगर आप उतना ज्यादा करेंगे, तो फिर वही होगा कि आपके बच्चे का इम्यून सिस्टम नहीं डवलप होगा... उसे आप थोड़ी मिट्टी, मिट्टी भी खाने दें, थोड़ी गन्दी चीजें भी खाने दें, ताकि उसका शरीर उसके अगेन्स्ट, उसके अगेन्स्ट इम्यूनिटी डवलप कर सके... कि हां, आखिर, अगर हम देखें तो हमारे सबके शरीर में टी.बी. के कीटाणु हैं... लेकिन ये हमारी इम्यूनिटी है जो उसे एक डिज़ीज़ में परिवर्तित नहीं होने दे रही है... अगर आज हमारी इम्यूनिटी कम होगी तो हो सकता है हम सबको टी.बी. हो जाये क्योंकि ये भारत वर्ष में इतना आम है... इसलिये बच्चे की थोड़ी साफ सफाई, कि उसे हम रोज नहलायें, उसे हम पौष्टिक आहार दें, उसकी हम वैक्सीनेशन प्रॉपर करायें... तो फिर बच्चे को हम इन आम बीमारियों से बचा सकते हैं...

exercise (hindi): 

1) माँ को बच्चे को दूध कब पिलाना चाहिये?

१) हर आधे घंटे में

२) हर दो घंटे में

३) हर एक घंटे में

४) जब भी वह दूध चाहता हो

2) अगर बच्चे को बुखार है तो क्या करना चाहिये?

१) माँ का दूध पिलाना चाहिये

२) अच्छे से बच्चे को ढकना चाहिये

३) जैसा डा० बताएँ वैसा इलाज करना चाहिये

४) सब

3) जब बच्चे चार-पाँच महीने के हो जाएँ तो किस प्रकार ध्यान रखना चाहिये?

१) बच्चे के नीचे साफ़ चद्दर बिछा दें

२) बच्चा बार-बार मुँह में हाथ न डालें

३) बच्चों के खिलौने थोड़े से साफ़ कर के दें

४) सब

4) बच्चों में इम्य़ून सिस्टम डवलप करने के लिये क्या करना चाहिये?

१) हर चीज़ झेलने की आदत होनी चाहिये

२) मिट्टी भी खाने दें

३) थोड़ी गन्दी चीज़ें भी खाने दें

४) सब